my blog

Just another weblog

37 Posts

69 comments

kajal


Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

Sort by:

prem ki paribhasha

Posted On: 31 Jan, 2012  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

में

2 Comments

Tools ‹ my blog — WordPress

Posted On: 9 May, 2014  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Hindi News Junction Forum Others पॉलिटिकल एक्सप्रेस में

0 Comment

लोकतंत्र की पहचान….और वर्तमान चुनाव

Posted On: 9 May, 2014  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Junction Forum में

0 Comment

Tools ‹ my blog — WordPress

Posted On: 20 Apr, 2014  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Hindi Sahitya में

0 Comment

बंजारा ये इश्क मेरा

Posted On: 20 Apr, 2014  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Junction Forum में

1 Comment

Tools ‹ my blog — WordPress

Posted On: 9 Apr, 2014  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Junction Forum Others Religious में

0 Comment

स्वार्थ से परे भी……जीवन है

Posted On: 9 Apr, 2014  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Junction Forum में

0 Comment

चाहिये बस थोडी सी धरति …थोडा सा बस आस्मा

Posted On: 7 Mar, 2014  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Junction Forum में

1 Comment

नारी दिवस…..कुछ बीते साल….कुछ आनेवाले

Posted On: 7 Mar, 2014  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 3.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Junction Forum में

0 Comment

इंसान समझना छोड़ दिया

Posted On: 17 Sep, 2013  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Junction Forum में

5 Comments

हिंदी… राष्ट्रभाषा नहीं मातृभाषा

Posted On: 14 Sep, 2013  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Junction Forum में

0 Comment

Page 1 of 41234»

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

के द्वारा: Dr.Swastik Jain Dr.Swastik Jain

के द्वारा: kajal kajal

के द्वारा: kajal kajal

के द्वारा: kajal kajal

के द्वारा: kajal kajal

के द्वारा: kajal kajal

के द्वारा: kajal kajal

के द्वारा: kajal kajal

के द्वारा: kajal kajal

के द्वारा: kajal kajal

के द्वारा: kajal kajal

के द्वारा: kajal kajal

के द्वारा: kajal kajal

के द्वारा: kajal kajal

के द्वारा: kajal kajal

के द्वारा: kajal kajal

के द्वारा: www.ashuyadav.in www.ashuyadav.in

के द्वारा: www.ashuyadav.in www.ashuyadav.in

के द्वारा: kajal74 kajal74

इस कविता का हिन्दी रूपांतरण इस तरह है..... जीवन के रंग सादे से कैनवास पर रंग उकेरना चाहा है रंगहीन नहीं, बिलकुल रंगीन चाँद सितारों सी जगमग सातों रंगों से रंगी इन्द्रधनुषी तस्वीर पहला, बचपन का वो आसमानी सा रंग आसमान सा फैला बिना चाह विचरना पंख फैलाये उड़ना …….. फिर जवानी का वो गुलाबी रंग उमंगों ख्वाबों की दुनियां सपनों का वो राजकुमार परियों की कहानियां सबसे रंगीन सखियों की दुनियां आने वाले कल के सपनो की दुनियां गुड्डे गुड़ियों की शादी खुले आँखों के वो सपने हर कुछ गुलाबी गुलाबी ………… फिर वो सिंदूरी लाल रंग की दुनियां कुछ आंसू के स्याह रंग अपनों से बिछड़ने का गम कुछ अलग मिला जुला सा रंग कुछ छूटने का नए रंग के मिलने का ख्वाबों से हकीकत बनने का रंग गुलाबी से सिंदूरी जीवन का वो पक्का रंग ………… फिर कुछ दिनों का हरा रंग लगा था बिलकुल सच्चा रंग कुछ ही दिनों में धुल गए गुलाबी , लाल, हरा,जाने कौन कौन सा रंग आज कैनवास पर रह गया है सादा रंगहीन बस एक रंग जीवन का एक सच्चा रंग अब इसी रंग का है साथ जो कैनवास और मेरा अपना रंग सफ़ेद और केवल सफ़ेद

के द्वारा: RAJEEV KUMAR JHA RAJEEV KUMAR JHA




latest from jagran